क्यूँ ना मैं साधु बन जाऊं

क्यूँ ना मैं साधु बन जाऊं

सुबह सुबह  मेरा फ़ोन बजा , मैसेज आया , डिअर सर , इस महीने की EMI है बकाया ,    इस माया के जाल को कैसे मैं  सुलझाऊँ ,                         क्यूँ ना मैं साधु बन जाऊं ।                   साल भर, रगड़ रगड़ मैंने क्या पाया ,                      इस बार भी 5 % इंक्रीमेंट...

Pin It on Pinterest